Mother Network Briefing Note-Hindi

सेंटर फॉर एन्वॉयरन्मेंट एंड एनर्जी डेवलपमेंट (सीड) एक स्वस्थ, संपन्न और विविधतापरक पर्यावरण को बेहतर बनाए रखने के लिए सततशील समाधानों पर कार्य करनेवाली संस्था है और यह बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और झारखंड में स्वच्छ हवा, स्वच्छ जल, स्वच्छ ऊर्जा, और ऐसे ही अन्य पर्यावरणीय मुद्दों पर सक्रिय है. 

सीड का दृढ़ विश्वास है कि महिलाएं समाज और परिवार की आधारस्तम्भ हैं और उनके बिना देश-दुनिया की बेहतरी की कल्पना नहीं की जा सकती. महिलाएं एवं माताएं मानव जीवन की जननी और उदगम स्रोत हैं, और समर्पण, संघर्ष, सेवा एवं सुरक्षा की प्रतिमूर्ति मानी जाती हैं. महिलाओं ने समाज और दुनिया के हर क्षेत्र में अपने नेतृत्व क्षमता, योग्यता, कौशल और साहस का परचम लहराया है. इतिहास गवाह है कि उन्होंने समय की धारा का रुख मोड़ा है और नए समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दिया है. 

इसी कड़ी में देश और समाज में प्रमुख पर्यारवरणीय चुनौतियों के मद्देनज़र सीड बिहार में महिलाओं और माताओं को केंद्र में रखकर एक विशेष पहलमदर्स नेटवर्क‘ (Mothers Network) की शुरुआत कर रहा है, जिसका मकसद स्वास्थ्य, वायु प्रदूषण, ऊर्जा, पेयजल, आजीविका आदि पर्यावरण की समस्याओं और समाज के विभिन्न मुद्दों पर आपसी विचार-विमर्श और समस्या-समाधान का एक मंच और माध्यम बनना है.

इस नेटवर्क के प्रमुख उद्देश्य हैं- 

  • पर्यावरणीय समस्यों पर संवाद-परिचर्चा करना और समस्या समाधान के जरिए जरूरी कदम उठाना 
  • रचनात्मक कार्यों के जरिये एक दूसरे की मदद करना और समाज और पर्यावरण के लिए अपनी आवाज़ बुलंद करना

सीड का उद्देश्य ‘मदर्स नेटवर्क’ को एक ऐसा माध्यम बनाना है, जो नियमित रूप से कभी बच्चों एवं महिलाओं की सेहत पर वायु प्रदूषण के दुष्प्रभावों पर चर्चा करे, तो कभी ‘लाइवलीहुड और जॉब्स’ के विषय पर रचनात्मक तरीकों से काम करे, साथ ही जल संकट के निदान से लेकर स्वच्छ परिवेश के लिए ‘क्लीन एनर्जी’ और ‘वेस्ट मैनेजमेंट’ से जुड़े सस्टेनेबल सोल्यूशन्स के लिए आवाज़ उठाए. इस तरह मदर्स नेटवर्क का कार्य और उद्देश्य बहुआयामी और इसका दायरा विस्तृत है. इसमें विविध पृष्ठभूमि की माताएं जुड़ रही हैं, जैसे डॉक्टर, शिक्षाविद, वर्किंग वीमेन, प्रोफेशनल, हाउसवाइव्स और होममेकर्स से लेकर गांव-देहात की सामान्य गृहिणी आदि. 

इस नेटवर्क को अभी व्हाट्सप्प के प्लेटफॉर्म पर शुरू किया जा रहा है और इसकी भूमिका और प्रासंगिकता पर परिचर्चा के लिए एक वेबिनार आगामी 5 जून को आयोजित किया जा रहा है. हमें पूरी उम्मीद है कि आप सब इसमें भागीदार होंगी और और इस पहल को सार्थक बनाएंगी.

नई पहल लेने, कुछ करने-दिखाने, आपस में सीखने-बताने एवं हमारे पर्यावरण और समाज में रचनात्मक सहयोग देने के लिए इस नेटवर्क में सभी ‘मदर्स’ का स्वागत है. मदर्स नेटवर्क आप सभी के सक्रिय सहयोग, समर्थन और भागीदारी से ही साकार और पूर्ण होगा.

इन्हीं शुभकामनाओं के साथ

 

रमापति कुमार 

सीईओ, सीड